असाधारण रिटर्न: 2023 में फलने-फूलने वाले शीर्ष 5 Mutual Fund का अनावरण

2023 भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए खुशियों का पिटारा साबित हुआ, जिसमें शेयर बाजार ने आसमान छुआ। सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ने ही लगभग 20% की शानदार उछाल देखी, जिससे निवेशकों के चेहरों पर मुस्कान खिल गई। Mutual Fund निवेशकों ने इस तेजी का खूब फायदा उठाया, उनके फंड ने शानदार रिटर्न दिए, जिससे उनके लिए समृद्धि का मार्ग प्रशस्त
हुआ। 2023 ने साबित कर दिया कि समझदारी से विभिन्न फंडों में निवेश करना कितना लाभदायक हो सकता है। कुल मिलाकर, यह भारत के लिए आर्थिक सफलता का एक शानदार वर्ष था।

mutual fund, share market, money

प्रदर्शन अवलोकन

  • Mutual Fund निवेशकों के लिए 2023 एक शानदार वर्ष था। शीर्ष 5 लार्ज-कैप कंपनियों ने औसतन 24% से अधिक का रिटर्न दिया, जबकि मिड-कैप और स्मॉल-कैप कंपनियों ने 40% से अधिक का रिटर्न दिया।
  • लार्ज-कैप कंपनियों में, निफ्टी 50 इंडेक्स का प्रदर्शन सबसे अच्छा रहा, जिसने 26% का रिटर्न दिया। इस इंडेक्स में शामिल प्रमुख कंपनियों ने भी शानदार प्रदर्शन किया, जिसमें एचडीएफसी बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज, और भारतीय स्टेट बैंक ने 25% से अधिक का रिटर्न दिया।
  • मिड-कैप कंपनियों में, एनएसई मिडकैप 100 इंडेक्स ने 45% का रिटर्न दिया। इस इंडेक्स में शामिल कंपनियों ने मजबूत वृद्धि दर्ज की, जिसमें कई कंपनियों ने 50% से अधिक का रिटर्न दिया।
  • स्मॉल-कैप कंपनियों में, एनएसई स्मॉलकैप 250 इंडेक्स ने 47% का रिटर्न दिया। इस इंडेक्स में शामिल कंपनियों ने भी मजबूत वृद्धि दर्ज की,जिसमें कई कंपनियों ने 60% से अधिक का रिटर्न दिया।
  • कुल मिलाकर, 2023 Mutual Fund निवेशकों के लिए एक सफल वर्ष था। सभी कैटेगरी की कंपनियों ने मजबूत वृद्धि दर्ज की, जिससे निवेशकों को महत्वपूर्ण लाभ हुआ।

पूंजीकरण द्वारा रिटर्न ब्रेकडाउन

2023 में Mutual Fund का रिटर्न कैपिटलाइजेशन के हिसाब से अलग-अलग हुआ। बड़े लार्ज-कैप फंडों ने भले ही 16.15% औसतन रिटर्न दिया, लेकिन मिड-कैप और स्मॉल-कैप ने बाजी मारी। मिड-कैप ने 30.77% और स्मॉल-कैप ने 34.29% औसतन रिटर्न के साथ मचा धूम मचा दिया। खासकर स्मॉल-कैप फंडों का जलवा रहा, जहां महिंद्रा मैनुलाइफ फंड ने 53% रिटर्न देकर सबको चौंका दिया! सभी कैटेगरी में मजबूत बढ़ोतरी ने साबित कर दिया कि 2023 Mutual Fund निवेशकों के लिए खुशियों का पिटारा साबित हुआ।

एयूएम vs. रिटर्न: Mutual Fund में दोहरा रुख

2023 में, बाजार ने दो अलग-अलग कहानियां सुनाईं – उच्च एयूएम और मध्यम रिटर्न वाले लार्ज कैप फंड और बेहतर रिटर्न लेकिन कम एयूएम वाले मिड और स्मॉल कैप फंड।

रॉकेट नहीं, रिक्शा – लार्ज कैप का मजबूत एयूएम: लार्ज कैप फंड, भले ही 16% से कम रिटर्न देकर चमके नहीं, ₹2,76,639 करोड़ का विशाल एयूएम समेटे रहे, 18% से ज्यादा की सालाना वृद्धि दर्शाते हुए। यही उनकी स्थिरता और निवेशकों के भरोसे को दर्शाता है।

छोटे हैं लेकिन तेज – मिड और स्मॉल कैप की रफ्तार: 30% और 34% से ज्यादा औसत रिटर्न के साथ मिड और स्मॉल कैप फंड ने धूम मचा दी। लेकिन इनका एयूएम क्रमशः ₹6.8 लाख करोड़ और ₹2.8 लाख करोड़ ही था। हालांकि, उनकी सालाना वृद्धि प्रभावशाली रही, ये बढ़ोतरी मिड और स्मॉल कैप के आकर्षक जोखिम-इनाम अनुपात की ओर संकेत करती हैं।

कहानी का सार: 2023 ने दिखाया कि रिटर्न और एयूएम हमेशा हाथ में हाथ नहीं डालते। लार्ज कैप ने सुरक्षा और स्थिरता की पेशकश की, जबकि मिड और स्मॉल कैप ने उच्च दांव और उच्च लाभ का लालच दिखाया। निवेशकों के लिए यह जरूरी है कि वे अपने जोखिम और लक्ष्यों को ध्यान में रखकर अपना रास्ता चुनें।

शीर्ष प्रदर्शनकर्ता

2023 में, म्यूचुअल फंडों ने सभी पूंजीकरण श्रेणियों में मजबूत प्रदर्शन किया। शीर्ष प्रदर्शन करने वाले फंडों की सूची निम्नलिखित है:

लार्ज कैप

  • निप्पॉन इंडिया लार्ज कैप फंड – 28.85%
  • बैंक ऑफ इंडिया ब्लूचिप फंड – 27.05%
  • एचडीएफसी टॉप 100 फंड – 26.61%
  • जेएम लार्ज कैप फंड – 26.16%
  • इनवेस्को इंडिया लार्ज कैप फंड – 24.45%

मिड कैप

  • निप्पॉन इंडिया ग्रोथ फंड – 42.93%
  • जेएम मिडकैप फंड – 42.88%
  • महिंद्रा मैनुलाइफ मिड कैप फंड – 41.31%
  • एचडीएफसी मिड-कैप अवसर फंड – 41.11%
  • व्हाइटओक कैपिटल मिड कैप फंड – 38.53%

स्मॉल कैप

  • महिंद्रा मैनुलाइफ स्मॉल कैप फंड – 53.22%
  • बंधन स्मॉल कैप फंड – 49.48%
  • फ्रैंकलिन इंडिया छोटी कंपनी फंड – 49.44%
  • आईटीआई स्मॉल कैप फंड – 48.54%
  • क्वांट स्मॉल कैप फंड – 44.90%

महिंद्रा मैनुलाइफ स्मॉल कैप फंड ने 53.22% का शानदार रिटर्न दिया, जो 2023 में किसी भी Mutual Fund का सर्वोच्च रिटर्न था।


इस सूचनात्मक विश्लेषण के लिए डेटा को मिंट, बड़े सम्मानित भारतीय बिजनेस न्यूजपेपर और एएमएफआई, भारतीय म्यूचुअल फंडों के शीर्ष निकाय से खींचा गया है। हालांकि दिसंबर 2023 तक का डेटा उपलब्ध है, निवेशकों को सूचित रहने और ज़रूरी शोध तथा बाजार विश्लेषण के आधार पर स्मार्ट निर्णय लेने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। अपनी वित्तीय स्थिति, लक्ष्यों, जोखिम सहनशीलता और निवेश अवधि को ध्यान से परख लें। चुने हुए फंड के पिछले प्रदर्शन और प्रबंधन का मूल्यांकन करें। और हां, किसी भी चिंता या सवाल के लिए अपने वित्तीय सलाहकार से सलाह जरूर लें!

Leave a comment